Lockdown continue till 3 May in India because of Corona virus Covid-19

Lockdown continue till 3 May in India because of Corona virus Covid-19

Lockdown continue till 3 May in India because of Corona virus Covid-19. We have to support our great P.M  Mr. Modi he has a great skill to see future . All people should support to Modi govt great decision to fight with Corona virus Covid-19.

PM and some members make a new Relief account PM Care Fund to manage the current Corona virus Covid-19.

But some news are going on Social media..

खरब पति #गांधी_वाड्रा_परिवार ने कोरोना फ़ंड में एक रूपये की हैल्प तो नहीं की हाँ लूटने जरुर आ गए।
#कांग्रेस की नीचता की कोई सीमा नहीं।
और दस जनपथ पे बैठे विदेशी मानसिकता के लूटेरो का तो कोई जवाब ही नहीं।
28 मार्च को मोदी सरकार ने #कोरोना महामारी के लिए #PM_CARES_FUND ( Prime Minister’s Citizen Assistance and Relief in Emergency Situations ) की स्थापना क्या की, कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया घाँडी की नींद हराम हो गयी।
उठते बैठते, सोते जागते बस फ़ंड फ़ंड और फ़ंड।
दरअसल देश में आपदाओ के लिए नेहरू ने सन 1948 में एक फ़ंड की स्थापना की थी… #PM_National_Relief_Fund।
इस फ़ंड में आपदा के लिये कोई भी दान दे सकता था/है। पर इस फ़ंड की सबसे बड़ी विशेषता है कि केंद्र में  सरकार चाहे जिसकी भी हो पर कांग्रेस अध्यक्ष और लोकसभा में विपक्ष के नेता (अधीर रंजन चौधरी) के साइन बिना पैसे नहीं निकलेंगे।
बस फिर क्या था, कोरोना आया और दस जनपथ में तो जैसे दिवाली आ गयी हो।
इतनी बड़ी महामारी, हजारो लाखो करोड़ का फ़ंड। और भूरी काकी के साइन…..आहहहा बड़े दिनो के बाद जश्न का मौका आया था।
पर कांग्रेस और गांधी परिवार के भ्रष्टाचार और कुत्तीनीति की एक एक चाल से वाकिफ मोदी जी ने महामारी की भयावहता को देखते हुए एक नया फ़ंड बना लिया।
ताकि जरुरतमंद लोगो को अविलंब सहायता पंहुचाई जा सके। और कांग्रेस और इसकी भूरी काकी और उसके लौंडे की लपलपाती जीभ से फ़ंड को बचाया भी जा सके। नहीं तो इतिहास गवाह है कि भूरी काकी के नाम पे दस बीस प्रतिशत कटिंग तो पक्की थी, देरी अलग से।
खैर, तिलमिलाई हुई भूरी काकी पहुंच गयी सुप्रीम कोर्ट। अपने खासमखास वकीलो की फौज की मार्फत मिलार्ड से गुहार लगायी कि PM CARES FUND का खाता बंद किया जाए। जो भी दान का पैसा आए वो पुराने खाते में आए, जिससे भूरी काकी का दरबार दलालो से रोशन हो सके। और कोरोना की महामारी के दुर्योग को कांग्रेस अपने सुयोग में बदल सके।
अव्वल तो सुप्रीम कोर्ट को इस तरह की जनविरोधी, राष्ट्रविरोधी और भ्रष्टाचार की बू में सनी #PIL स्वीकार ही नहीं करनी चाहिये थी। पर लगता है कि अब सुप्रीम कोर्ट ने भी मन बना लिया है कि कांग्रेस की ऐसी नीच मानसिकता को देश की जनता के सामने श्वेतपत्र की तरह खोल कर रख देंगे।
और आज मुख्य न्यायाधीश श्री बोबड़े जी की अध्यक्षता वाली बेंच ने कांग्रेस की भूरी काकी की इस याचिका को इनके वकील M L (मल) शर्मा के विशेष स्थान पे बत्ती लगा के घुसा दिया।
बत्ती वो भी पेट्रोल में भिगो के…..मल शर्मा पर ऐसी बेहूदा PIL दाखिल करने के लिये जुर्माना भी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *